37.4 C
Jodhpur

इनकम टैक्स की बड़ी खबर: 10 लाख की कमाई पर भी नहीं देना होगा 1 रुपये का टैक्स, जानिए पूरी डिटेल

spot_img

Published:

इनकम टैक्स: अगर आपका सैलरी पैकेज 10 लाख रुपये है और आप अपनी कमाई का बड़ा हिस्सा टैक्स के रूप में चुकाते हैं तो सावधान हो जाइए. शायद आप सोच रहे होंगे कि टैक्स बचाने का कोई रास्ता नहीं है, ऐसे में अगर टैक्स देना सही है तो आप गलत हैं। इतना ही नहीं, अगर आपका सैलरी पैकेज 10.5 लाख रुपए भी है तो भी आपको 1 रुपए टैक्स के तौर पर नहीं देना होगा। आइए जानते हैं पूरा गणित…

10.5 लाख की सैलरी पर आप 30 फीसदी टैक्स के स्लैब में आते हैं. क्योंकि 10 लाख से ऊपर की सालाना आय पर 30 फीसदी इनकम टैक्स लगता है.

ये है पूरा गणित
1.
अगर आपकी सैलरी 10.5 लाख रुपये है तो सबसे पहले स्टैंडर्ड डिडक्शन के तौर पर सरकार द्वारा दिए गए 50 हजार घटाएं। इस तरह आपकी टैक्सेबल इनकम अब 10 लाख रुपये हो गई है।

2. अब आप 80C के तहत 1.5 लाख रुपये क्लेम कर सकते हैं। इसमें आप बच्चों की ट्यूशन फीस, पीपीएफ, एलआईसी, ईपीएफ, म्युचुअल फंड (ईएलएसएस), होम लोन का मूलधन आदि क्लेम कर सकते हैं। इस तरह यहां आपकी टैक्सेबल इनकम घटकर 8.5 लाख रुपये रह गई है।

3. 10.5 लाख की सैलरी पर टैक्स जीरो (0) करने के लिए आपको 80CCD(1B) के तहत नेशनल पेंशन सिस्टम (NPS) के तहत 50 हजार का निवेश करना होगा. इस तरह आपकी टैक्सेबल सैलरी घटकर 8 लाख रुपये रह गई है।

4. अब आप इनकम टैक्स के सेक्शन 24बी के तहत 2 लाख रुपये के होम लोन के ब्याज पर टैक्स छूट क्लेम कर सकते हैं. इस तरह अब आपकी टैक्सेबल इनकम घटकर 6 लाख रुपये रह गई है।

5. इनकम टैक्स के सेक्शन 80डी के तहत आप अपने परिवार (पत्नी और बच्चों) के लिए 25 हजार रुपये के मेडिकल हेल्थ इंश्योरेंस के प्रीमियम का दावा कर सकते हैं. इसके अलावा माता-पिता के लिए भुगतान किए गए स्वास्थ्य बीमा प्रीमियम के लिए वरिष्ठ नागरिक 50 हजार रुपये का दावा कर सकते हैं। 75 हजार के कुल स्वास्थ्य बीमा प्रीमियम का दावा करने के बाद आपकी कर योग्य आय घटकर 5.25 लाख रह गई है।

6. अब आपको अपनी कर योग्य आय को 5 लाख तक लाने के लिए किसी संस्था या ट्रस्ट को 25 हजार रुपये दान करने होंगे। आप इसे इनकम टैक्स के सेक्शन 80जी के तहत क्लेम कर सकते हैं। 25 हजार दान करने पर आपकी टैक्सेबल इनकम घटकर 5 लाख रुपए रह गई।

जीरो टैक्स देना होगा
, अब आपकी कर योग्य आय को घटाकर 5 लाख रुपये कर दिया गया है। 2.5 से 5 लाख रुपये की आय पर 5 प्रतिशत की दर से आपका टैक्स 12,500 रुपये हो जाता है। लेकिन इस पर सरकार की तरफ से छूट है. ऐसे में आपकी टैक्स देनदारी जीरो हो जाती है।

[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!