46.1 C
Jodhpur

इंग्लैंड से पढ़ाई, गांधी परिवार की करीबी; कौन हैं ओसियां MLA दिव्या ?

spot_img

Published:

राजस्थान की गहलोत सरकार पर हमला बोलने वाली ओसियां से कांग्रेस विधायक दिव्या मदेरणा ने चेतावनी दी है। उन्होंने अपनी ही सरकार राजनीतिक बदले की भावना से काम करने का आरोप लगाते हुए जमकर निशाना साधा। उन्होंने किरोड़ी लाल मीणा को आतंकी कहे जाने को लेकर अपने ही सरकार के मंत्री और अशोक गहलोत के करीबी शांति धारीवाल पर हमला बोला। दिव्या ने दावा किया कि उन्होंने राजस्थान विधानसभा में किरोड़ी लाल मीणा पर की गई टिप्पणी को गलत बताते हुए निंदा की थी, इस वजह से जोधपुर विकास प्राधिकरण ने उनके ओसियां की 44 सड़क प्रोजेक्ट्स को रद्द कर दिया। उन्होंने मुख्यमंत्री गहलोत को चेतावनी देते हुए कहा कि यह बदला लेने वाला रवैया बंद किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि यदि मुख्यमंत्री गहलोत ने मेरे क्षेत्र की सड़कों के प्रोजेक्ट्स को वापस नहीं बहाल करवाया तो वह भी मुंह में घास लेकर धरने पर बैठ जाएंगी। हालांकि, यह पहली बार नहीं है, जब दिव्या ने अपनी ही सरकार पर निशाना साधा हो, इससे पहले भी कई बार वे सरकार पर हमला बोल चुकी हैं।

मुख्यमंत्री पद के दावेदार थे दादा परसराम मदेरणा
दिव्या के दादा परसराम मदेरणा राजस्थान के बड़े जाट नेता माने जाते थे। साल 1998 में कांग्रेस ने राजस्थान विधानसभा चुनाव में शानदार प्रदर्शन करते हुए 153 सीटों पर जीत दर्ज की थी, जिसके बाद परसराम मदेरणा को मुख्यमंत्री पद का अहम दावेदार माना जा रहा था। हालांकि, वह सीएम बनने में सफल नहीं हो सके और कांग्रेस आलाकमान ने उनके बजाए अशोक गहलोत को राज्य की कमान सौंप दी। वहीं, उनके बेटे और दिव्या के पिता महिपाल मदेरणा भी कांग्रेस से विधायक और मंत्री रहे। वहीं, पिछले साल सितंबर महीने में अशोक गहलोत के करीबियों की बगावत के दौरान भी दिव्या ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को घेरते हुए कई बयान दिए थे। इसमें उन्होंने साल 1998 में दादा परसराम के मुख्यमंत्री नहीं बनने का भी जिक्र किया था। उन्होंने तब कहा था कि 98 में एक लाइन का फैसला आया, जिसके बाद वे सीएम नहीं बन सके और फैसले को सभी ने माना।

[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!