31.6 C
Jodhpur

आयकर छूट: क्या आयकर में 5 लाख रुपये तक की छूट मिलेगी? टीपीएफ ने सरकार से की ये बड़ी मांग

spot_img

Published:

इनकम टैक्स में छूट: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण 1 फरवरी को बजट पेश करने जा रही हैं. ऐसे में विभिन्न संगठनों ने अभी से अपने सुझाव और मांगें देनी शुरू कर दी हैं। ऐसी ही एक मांग टीपीएफ की ओर से आई है।

जिसमें वित्त राज्य मंत्री पंकज चौधरी को आयकर में 5 लाख रुपये की छूट देने की बात कहते हुए ज्ञापन सौंपा है. इसके अलावा स्टैंडर्ड डिडक्शन को भी बढ़ाकर 1 लाख रुपये किया जाए। उनकी तरफ से मांग की गई है कि पीपीएफ में निवेश की अधिकतम सीमा को भी बढ़ाकर 3 लाख रुपये कर दिया जाए. तेरापंथ प्रोफेशनल फोरम से 7000 से ज्यादा इंजीनियर, डॉक्टर और चार्टर्ड अकाउंटेंट जुड़े हुए हैं।

स्टैंडर्ड डिडक्शन बढ़कर एक लाख रुपये होगा!

टीपीएफ के राष्ट्रीय अध्यक्ष पंकज ओसवाल ने बताया है कि स्टैंडर्ड डिडक्शन को बढ़ाकर एक लाख रुपये करने की मांग हमारी ओर से की गई है. आपको बता दें कि फिलहाल यह कटौती केवल 50 हजार रुपये की है. अगर बजट में सरकार इस मांग को मान लेती है तो आपको टैक्स में राहत मिल सकती है। मानक कटौती वह राशि है जो सीधे आपके वेतन से काटी जाती है। यानी अगर आपकी सालाना आय 10 लाख रुपये है तो मौजूदा नियमों के मुताबिक सरकार आपकी आय 9 लाख 50 हजार रुपये मानेगी. वहीं अगर इस कटौती को बढ़ाकर 1 लाख रुपये कर दिया जाता है तो नए नियमों के मुताबिक आयकर विभाग 10 लाख रुपये की आय को 9 लाख रुपये मानेगा.

पीपीएफ में ज्यादा निवेश कर सकेंगे

पीपीएफ में अब तक कोई बदलाव नहीं हुआ है। हालांकि अब टीपीएफ ने मांग की है कि पीपीएफ में निवेश की अधिकतम सीमा को बढ़ाया जाए। आपको बता दें कि मौजूदा समय में पीपीएफ खाते में एक वित्तीय वर्ष में 1 लाख 50 हजार रुपये ही निवेश किया जा सकता है। टीपीएफ ने इसे बढ़ाकर तीन लाख रुपये करने की मांग की है। पीपीएफ में जो भी राशि निवेश की जाती है, उस पर आयकर विभाग अधिनियम की धारा 80सी के तहत छूट मिलती है। ऐसे में अगर इस बजट में निवेश की रकम को बढ़ाकर 3 लाख रुपये कर दिया जाए तो करदाताओं को खुशी होगी क्योंकि इस योजना में निवेश करने पर पूरी रकम टैक्स फ्री हो जाती है।

[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!